Advertisement

Breaking News
recent

मशरूम से मशहूर हुए सूर्यदेव महतो

गूगल से ली गयी तस्वीर

''हर 15 दिन पर 70 से 80 किलोग्राम बीज उगाते हैं और सारे बीज बिक जाते हैं''

पटना : मशरूम स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से बहुत लाभकारी खाद्य है, लेकिन इसकी खेती भी कम फायदेमंद नहीं है। अगर यकीन न हो, तो गया जिले के वजीरगंज के पुनावा गांव के रहनेवाले सूर्यदेव महतो से पूछिये।

सूर्यदेव महतो मशरूम का बीज उगा कर हर साल 4 लाख रुपये की कमाई कर रहे हैं। सूर्यदेव ने अपने घर पर ही लैब बना रखा है जहां सालभर बीज उगाते हैं। वह मशरूम के कारोबार से पिछले 10 सालों से जुड़े हुए हैं।

उन्होंने बताया कि पहले वह मशरूम खुद उगाते थे, लेकिन मशरूम की डिमांड को देखते हुए उन्होंने बीज तैयार करने का निर्णय लिया।  महतो ने कहा कि हर 15 दिन पर 70 से 80 किलोग्राम बीज उगाते हैं और सारे बीज बिक जाते हैं। वह कहते हैं, ‘इसकी खेती में जोखिम भी बहुत अधिक नहीं है जबकि बाजार में इसकी मांग बहुत ज्यादा है।’

वह अपनी लैब में ओएस्टर और मिल्की मशरूम के बीज तैयार करते हैं। उन्होंने बताया कि एक किलोग्राम बीज तैयार करने में 50 रुपये खर्च होते हैं लेकिन वह किसानों को 90 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बीज बेचते हैं। हालांकि पटना व अन्य बड़े बाजारों में यही बीज 150 रुपये किलो बिकते हैं। 

सूर्यदेव महतो ने बताया कि उनके पास दूर-दूर से किसान बीज खरीदने के लिए आते हैं और इससे समझा जा सकता है कि बाजार में मशरूम के बीजों की डिमांड कितनी है।

मशरूम की खेती करने के इच्छुक किसानों को वह मुफ्त में प्रशिक्षण भी देते हैं और तो और अगर किसी किसान का मशरूम नहीं बिक पाता है, तो वह उन्हें खरीद लेते हैं और उसका प्रसंस्करण कर बाजार में बेचते हैं। उन्होंने कहा कि मशरूम के बीज की बाजार में बहुत मांग है। बीज उगाकर किसान अतिरिक्त आय कर सकता है।

महतो ने कहा, ‘मैं किसानों को मशरूम की खेती के लिए प्रोत्साहित करता हूं और अगर किसी को खेती के लिए प्रशिक्षण चाहिए, तो उसे मैं मुफ्त में मशरूम की खेती के गुर बता सकता हूं।’

No comments:

Powered by Blogger.